Hard Disk kya hai कंप्यूटर में इसकी क्यों आवश्यकता होती है

अकसर आपको Hard Disk kya hai यह बहुत बार जानने का इच्छा होती होगी आज के इस ब्लॉग में हम हार्ड डिस्क ड्राइव के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है।दोस्तों, क्या आपने कभी सोचा है कि कंप्यूटर में मौजूद फाइल फोटो, वीडियो और गानों को कहाँ पर रखा जाता है।

कंप्यूटर में यह काम हार्ड डिस्क करता है। हार्ड डिस्क में सभी प्रकार का डेटा रहता है क्युकि यह एक स्टोर करने वाली डिवाइस होती है।हार्ड डिस्क ड्राइव एक स्टोरेज डिवाइस है यह कंप्यूटर का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है अगर यह कंप्यूटर में नहीं होगा तो कंप्यूटर किसी काम का नहीं रहेगा।

अकसर कंप्यूटर के हार्ड डिस्क ड्राइव को C ड्राइव भी कहते है। ज्यादातर मामलों में कंप्यूटर के C ड्राइव में ऑपरेटिंग सिस्टम मौजूद रहता है। वैसे तो एक हार्ड डिस्क ड्राइव को कई हिस्सों में विभाजन किया जा सकता है। इसमें सबसे प्रमुख C ड्राइव है यह हार्ड डिस्क का प्राथमिक विभाजन होता है। प्राथमिक विभाजन होने से इस पर डिफ़ॉल्ट रूप से ऑपरेटिंग सिस्टम चले जाता है। इसके अलावा इसके और भी विभाजन हो सकते है जैसे जिनका अक्षर D,E और F से शुरू होता है।    

इन्फॉर्मेशनल टेक्नोलॉजी की दुनिया में हार्ड डिस्क को कई नामों से बोला जाता है आमतौर पर इसे निम्नलिखित नामों से जाना जाता है।  

HDD और एचडीडी 
हार्ड ड्राइव और हार्ड डिस्क
मैग्नेटिक हार्ड डिस्क और मैकेनिकल हार्ड ड्राइव
फिक्स्ड ड्राइव और फिक्स्ड डिस्क ड्राइव

Hard Disk kya hai |  हार्ड डिस्क ड्राइव क्या है 

एक की हार्ड डिस्क ड्राइव एक तरह की टेक्नोलॉजी है जो किसी भी प्रकार के डेटा को संग्रहित करती है इसका मतलब होता है एक कंप्यूटर, अपने हार्ड डिस्क में अपने डेटा को रखता है। डेटा कुछ भी हो सकता है जैसे पिक्चर, फाइल, फोल्डर, वीडियो कोई पीडीऍफ़ फाइल या गेम की फाइल कोई एप्लीकेशन की फाइल और साथ में कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम की फाइलें आदि। 

एक हार्ड डिस्क ड्राइव कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण अंग होता है अगर कभी किसी कंप्यूटर की हार्ड डिस्क ख़राब हो जाती तब वह कंप्यूटर स्टार्ट नहीं हो पायेगा क्यकि कंप्यूटर को स्टार्ट करने वाली फाइल जिसे boot फाइल कहते है वह भी हार्ड डिस्क में स्टोर रहती है HDD के खराब होने से कंप्यूटर को बूट फाइल नहीं मिलेगी जिससे मॉनिटर no boot device found का error दिखायेगा। 

हार्ड डिस्क काम कैसे करती है?

जब भी हार्ड डिस्क में कोई डाक्यूमेंट्स संग्रहित किया जाता है या रखा जाता है तब वह डेटा हार्ड डिस्क पर किसी जगह पर रखा जाता है। हार्ड डिस्क में एक चुंबकीय प्लेट होती है जो दिखने में एक गोल सीडी जैसी होती है सभी डेटा को इसी प्लेट में रखा जाता है। इस प्लेट के बीच में एक हैड होता है जो डेटा को हार्ड डिस्क पर लिखते रहता है। यह हार्ड डिस्क पर डेटा को बाइनरी कोड 0 और 1 में लिखता है।

Hard Disk kya hai

बाइनरी लैंग्वेज को मशीन लेंग्वेज भी कहते है क्युकी कंप्यूटर मशीन लेंग्वेज को ही समझ सकते है इसी कारण सभी डेटा को बाइनरी कोड में लिखा जाता है। हार्ड डिस्क की गोलकार चुंबकीय प्लेट को प्लेटर्स कहते है। हैड इस प्लेटर्स पर डेटा को  लिखता और पढ़ते रहता है। 

हार्ड डिस्क का साइज क्या और कितना तक हो सकता है?

दरअसल हार्ड डिस्क ड्राइव में बहुत बड़े तौर पर डेटा को संगृहीत अथार्त रखा जाता है। कंप्यूटर में डेटा के साइज को बिट और बाईट से प्रदर्शित किया है। बहुत पुरानी hard disk का आकार मेगाबाइट में होता था।

IBM कंपनी ने दुनिया की पहली हार्ड डिस्क बनाई थी जिसको IBM Model 350 Disk नाम दिया गया था। इसका आकर देखने में बहुत बड़ा था जैसे की एक बड़ी अलमारी होती है। परन्तु इसपर 5 MB तक डेटा रखा जा सकता था। आजकल जहां HDD आकर में 1 GB से 10 TB या उससे भी अधिक आकार में माक्रेट में उपलब्ध  मिलते है। 

डेटा का आकर या साइज क्या होता है?

जैसा कि हमने बताया हार्ड डिस्क में जो भी रखा जाता है वह किसी ना किसी रूप से डेटा ही होता है। डेटा का तात्पर्य इनफार्मेशन से है। इनफार्मेशन कुछ भी हो सकती है कोई वीडियो हो सकती है कोई पिक्चर या फिर कोई डाक्यूमेंट्स आदि हो सकती है।

कंप्यूटर में डेटा के आकर को उदाहरण से समझते है जैसे हम दैनिक जीवन में खाने के लिए चावल या आटा लाते है तो हम उसे किलो से उच्चारण करते है जैसे 10 किलो चावल आदि इसके अलावा  तेल, दूध जैसे उत्पादों को हम लीटर में बोलते है। कहने का मतलब यह है की हर एक चीज़ को किसी न किसी रूप से नापा जाता है। ठीक इसी प्रकार कंप्यूटर और कंप्यूटर साइंस में डेटा को बिट, बाइट, किलोबाइट आदि से प्रदर्शित करते है। 

डेटा के टाइप को कुछ उदाहरण से समझते है जिससे हम हार्ड डिस्क को भी आसानी से जान सकते है क्युकि HDD एक स्टोरेज डिवाइस है जिसमें डेटा या इनफार्मेशन रहता है।

Data Type- Hard Disk kya hai

Bit =1 सिंगल बाइनरी नंबर 

1 Byte = 8 Bit

1 Kilobyte या 1 KB  =  1024 Bytes

1 Megabyte या 1 MB = 1024 Kilobyte 

1 Gigabyte या 1 GB = 1024 Megabyte 

1 Terabyte या 1 TB = 1024 Gigabyte 

1 Petabyte या 1 PB = 1024 Terabyte 

डेटा को कुछ और उदाहरण से समझते है जिससे हार्ड डिस्क के साइज और आकार के बारे में आप और डिटेल्स से जान पाएंगे।  

1 byte में एक सिंगल character आता है अथार्त 1 byte के साइज में एक ही character होता है जैसे कि ‘INDIA‘ एक word है और इसका पहला character ‘I‘ है।  

10 Byte में एक word आता है अथार्त 10 Byte का साइज एक word के बराबर होता है। 

1 Kilobyte 1024 byte के बराबर होता है इतने साइज में लगभग दो या तीन पेराग्राफ का टेस्ट हो सकता है। 

100 Kilobytes में एक कम रेसोलुशन की पिक्चर के बराबर होता है। 

1 Megabyte इस 1 MB में लगभग 4 बुक तक आ सकती है। जैसे पीडीऍफ़ फाइल लगभग 800 पेज से ज्यादा।  

2 Megabyte या 2 MB में एक हाई रिसोलुएशन पिक्चर आती है। 

1 Gigabyte या 1 GB में एक हाई क्वालिटी का वीडियो या मूवी तक आ सकती है। 

हार्ड डिस्क कितने प्रकार के होते है?

हार्ड ड्राइव एक स्टोरेज डिवाइस होती है जिसमें कंप्यूटर डेटा और इनफार्मेशन को रखता है। इन्हें non volatile memory भी कहते है।non volatile memory वह मेमोरी होती है जिसमें पावर ना होने पर भी डेटा सुरक्षित रहता है जैसे हार्ड डिस्क, फ्लॉपी डिस्क। हार्ड डिस्क मुख्यत: तीन प्रकार के होते है। 

SATA Drive

SSD

NVMe

SATA Drive

Hard Disk kya hai
Hard Disk Drive

SATA को इंग्लिश में Serial Advanced Technology Attachment कहते है यह मुख्यतः लैपटॉप और डेस्कटॉप में उपलब्ध मिलती है।यह हार्ड डिस्क ड्राइव होती है। इस ड्राइव की कीमत कम होती है लेकिन बाकी ड्राइव की तुलना में हार्ड डिस्क की डेटा लिखने और पढ़ने की स्पीड कम होती है। क्युकि इसके अंदर हिलने डुलने वाले पार्ट्स होते है जिससे इसके खराब होने की डर अधिक होती है।   

SSD

SSD को इंग्लिश में Solid State Drive कहते है। इन डिस्क के अंदर कोई हिलने डुलने वाले पार्ट्स नहीं होते है बल्कि इनके अंदर एक फ्लैश ड्राइव होती है जिसमें डेटा संगृहीत होता है। यह ड्राइव का आकार भी छोटा होता है। यह ड्राइव लैपटॉप के लिए बहुत अच्छी होती है क्युकि लैपटॉप को को कहीं भी लेके जा सकते है।

Hard Disk kya hai
SSD

सॉलिड स्टेट ड्राइव हार्ड डिस्क की तुलना में बहुत फ़ास्ट होती है। इनकी कीमत हार्ड डिस्क की तुलना में 4 गुनी अधिक होती है और मार्किट में इनके आकर कुछ सीमित है। यह SATA ड्राइव से बहुत फास्ट और टिकाऊ होते है।  

NVMe

NVMe भी एक प्रकार की सॉलिड डिस्क ड्राइव है जिसे एक कार्ड में जोड़कर कंप्यूटर या सर्वर में लगाते है। इस कार्ड को PCIe एक्सप्रेस कहते है और सर्वर में जिस स्थान पर यह लगता है उसे PCI स्लॉट कहते है। PCI का फुल फॉर्म Peripheral Component Interconnect होता है।

Hard Disk kya hai
NVMe

NVMe बहुत ही फ़ास्ट होते है। यह ज्यादातर सर्वर में इस्तेमाल होते है। इसकी स्पीड 1 सेकंड में 30 GB डेटा को लिखने और पढ़ने तक की हो सकती है। ये बहुत फास्ट स्टोरेज डिवाइस हैं।  NVMe को इंग्लिश में Non-Volatile Memory Express कहते है। 

यह भी पढ़े: 1- SSD क्या हैं? 2- SSD और HDD में क्या अंतर है? 3- ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है?

आशा करते हैं की आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी।आप हमें अपने सुझाव और शिकायत के लिये नीचे कमैंट्स बॉक्स मैं जानकारी दें सकते हैं।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x