कम्प्यूटर की पीढ़ियाँ 5वीं generation क्या है

कम्प्यूटर की पीढ़ियाँ कम्प्यूटर का इतिहास है कि कैसे कम्प्यूटर का जन्म हुआ किन-किन वैजानिको ने कम्प्यूटर के निर्माण मै योगदान दिया। कम्प्यूटर की पीढ़ियाँ मैं हम जानेंगे की कम्प्यूटर का विकास कैसे हुआ और कम्प्यूटर की किंतनी पीढ़ियाँ है।  

कंप्यूटर की पाँच पीढ़ियाँ हैं।

1940 – 1956: First Generation – Vacuum Tubes
1956 – 1963: Second Generation – Transistors
1964 – 1971: Third Generation – Integrated Circuits
1972 – 2010: Fourth Generation – Microprocessors
2010- Fifth Generation – Artificial Intelligence

1940 – 1956:  First Generation – Vacuum Tubes

First जनरेशन कम्प्यूटरों मैं Vacuum Tube होते थे। इनमे मेमोरी के लिए Magnetic drums का इस्तेमाल होता था। First जनरेशन के कंप्यूटर बहुत विशाल होते थे इनको रखने  के लिए एक पूरा कमरा भी छोटा होता था।  इनको चलाने  के लिए बहुत अधिक बिजली का इस्तेमाल होता था। First जनरेशन के कंप्यूटर मल्टीटास्किंग नहीं होते थे अथार्त ये एक टाइम पर एक ही काम कर सकते थे। ये बहुत बड़े और विशाल मशीने थी।  

1956 – 1963: Second Generation – Transistors

फर्स्ट जनरेशन के बाद, ट्रांजिस्टर की शुरुआत हुई, जो वैक्यूम ट्यूबों को बदलने के लिए थे । 1947 में बेल लैब्स में निर्माण हुआ, हालांकि 1950 के दशक के अंत तक कंप्यूटर में उनका आमतौर पर उपयोग नहीं किया जाता था।  न केवल ट्रांजिस्टर छोटे थे, बल्कि वे निर्माण के लिए सस्ते, अधिक ऊर्जा और तेज गति से काम करने वाले भी थे। उनका एकमात्र नकारात्मक पक्ष यह था कि वे बहुत अधिक गर्मी उत्पन्न करते थे, जिससे कंप्यूटर को नुकसान हो सकता था। हालाँकि, यह अभी भी फर्स्ट जनरेशन से एक बड़ा सुधार था। 

1964 – 1971: Third Generation – Integrated Circuits

Third जनरेशन के कंप्यूटर मैं एकीकृत सर्किट (IC) की शुरुआत हुई , जो आज भी उपयोग में हैं। ये Second जनरेशन की तुलना में कंप्यूटर के आकार को और भी कम कर देते और ये फ़ास्ट भी थे। पहली दो जनरेशन पंच कार्ड और प्रिंटआउट पर निर्भर थीं, जबकि अब, कीबोर्ड और मॉनिटर का इस्तेमाल होने लगा था जो एक ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़े होते हैं। कंप्यूटर डिवाइस अब एक साथ कई एप्लिकेशन चला सकते हैं। 

1972 – 2010: Fourth Generation – Microprocessors

Fourth जनरेशन में, माइक्रोप्रोसेसर )  के आविष्कार ने कंप्यूटर को बिज़नेस और घऱ घऱ तक   लाने में मदद की. माइक्रोप्रोसेसर को आमतौर पर सीपीयू(CPU) के रूप में जाना जाता है। 1981 में, आईबीएम कंपनी पहला घरेलू कंप्यूटर लाये, और 1984 में, पहला Apple Macintosh पेश किया गया। समय के साथ ये छोटे कंप्यूटर अधिक शक्तिशाली होते गए।  इस समय न केवल हमारे पास मॉनिटर और कीबोर्ड हैं, सेल फोन जैसे हैंडहेल्ड डिवाइस भी हैं। 

2010 – Fifth Generation – Artificial Intelligence

2010 से अब तक की अवधि और उससे आगे को Fifth जनरेशन के कंप्यूटरों की अवधि के रूप में माना जाता है। पहले के समय तक कंप्यूटर पीढ़ी को केवल हार्डवेयर के आधार पर वर्गीकृत किया जा रहा था, लेकिन Fifth जनरेशन की तकनीक में सॉफ्टवेयर भी शामिल था।Fifth जनरेशन के कंप्यूटरों में उच्च क्षमता और बड़ी मेमोरी क्षमता थी।  इस जनरेशन के कंप्यूटरों के साथ काम करना तेज था और एक साथ कई काम किए जा सकते थे। पांचवीं पीढ़ी की कुछ लोकप्रिय उन्नत तकनीकों निम्न है। 

कौन सा लैपटॉप खरीदना चाहिए?

  • Artificial Intelligence
  • Quantum Computation
  • Nanotechnology
  • Parallel Processing

आशा करते है की आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी।आप हमें अपने सुझाव और शिकायत के लिये नीचे कमैंट्स बॉक्स मैं जानकारी दें सकते है।

इन्टरनेट क्या हैं ?

LAN क्या है ?

What is IP address?

Computer Science Course in Hindi

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x